July 25, 2024 |
Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

BREAKING NEWS

झोलाछाप डॉक्टरों के पास हर बीमारी का इलाज मुख्यमंत्री के आदेश की अवेलना, झोलाछाप डॉक्टर मरीजों की जान से कर रहे खिलवाड़।दबंग सरपंच के आतंक से परेशान पंचायत वासी, पीड़ित पक्ष ने प्रशासन से लगाई न्याय की गुहारखनिज विभाग की टीम ने अवैध रूप रेत उत्खनन कर जा रहे दो ट्रैक्टर ट्राली पर की कारवाईबांदरी में नेशनल हाईवे 44 पर कंटेनर के ड्राइवर ने अचानक से ब्रेक लगा दिए, जिससे कंटेनर के पीछे चल रही बस उसमें पीछे से जा टकराई। बस में सवार 10 यात्री घायलश्मशान घाट निर्माण करने के नाम पर सरपंच ने श्मशान घाट के पेड़ कटवाकर बेच दिए, ग्रामीणों ने लगाए आरोप…बीना के सरगोली ग्राम पंचायत के मूडरी गांव में अपने पिता का अंतिम संस्कार करने के लिए बेटे को 15 घंटे बारिश रुकने तक करना पड़ा इंतजार, पूर्व सरपंच द्वारा श्मशान घाट निर्माण की राशि निकालने के बाद भी नहीं किया गया निर्माणपूर्व एनएसजी कमांडो मनोज राय दे रहे निशुल्क ट्रेनिंग, अभी दो प्रतिभागियों का हो गया चयन, अब तक 22 प्रतिभागियों का हुआ चयनपटवारी संघ अनिश्चितकालीन हड़ताल पर,आखिरकार क्यों एक माह में तीन बार सीमांकन करने गए पटवारी पर किसानों ने किया हमला, जांच का विषयनिर्माणधीन सी एम् राइज स्कूल का गिरा छत, 6 मजदूर गंभीर रूप से घायल,क्षेत्र में लगातार लापरवाही व गुणवत्ता विहीन हो रहा निर्माण, मजदूर की सुरक्षा का नहीं रखते ध्याननगर में बायपास बनने के बाद भी भारी वाहन एवं बस 24 घंटे धड़ल्ले से शहर के मुख्य मार्ग निकल रहै,प्रशासन द्वारा भारी वाहनों पर अंकुश नही

बच्चे पहुंचे स्कूल, लटका मिला ताला, शिक्षा विभाग की लापरवाही का खामियाजा भुगतते बच्चे

मयंक जैन खुरई – खुरई तीन महीने स्कूल की छुट्टियों के बाद 18 जून को स्कूल प्रवेश उत्सव कार्यक्रम सभी जगहों पर मनाया गया। जिसमें बच्चों का तिलक लगाकर माला पहनकर स्वागत किया गया लेकिन सागर जिले के खुरई से 10 किलोमीटर दूर सब्दा गांव मैं तस्वीर बिल्कुल उल्टी रही। यहां मनाया तो जाना था प्रवेश उत्सव लेकिन यहां पर पदस्थ शिक्षिका के घरेलू विवाद ने मारपीट उत्सव में तब्दील कर दिया जिसका असर यह हुआ कि यहां पर दर्ज 22 बच्चों में से एक भी अगले दिन स्कूल नहीं पहुंचा टीचर भी स्कूल नहीं पहुंचे स्कूल में ताला डला हुआ है। इसके अलावा मुकरामपुर गांव का स्कूल बंद मिला, बच्चे स्कूल के बाहर शिक्षक के आने का इंतजार कर रहे थे।

शासकीय प्राथमिक शाला मुकरामपुर

 

 

 

शिक्षक पति ने स्कूल में शिक्षिका पत्नी से की मारपीट

 

 

पूरे प्रदेश में जहां मंगलवार को प्रवेशउत्सव मनाया जा रहा था तो वहीं खुरई के शासकीय प्राथमिक स्कूल में पदस्थ एकमात्र शिक्षिका चंदा कोरी का अपने शिक्षक पति के बीच में विवाद चल रहा है जैसे ही शिक्षिका स्कूल पहुंची तो पीछे से उनके पति महोदय पहुंच गए और उन्होंने मारपीट कर दी। विवाद के दौरान शिक्षक ने स्कूल के सभी बच्चों को बाहर निकाल दिया था। बच्चों ने जब यह नजारे देखें तो वह डर गए। दरअसल शिक्षिका के पति भी दूसरे गांव में शिक्षक है लेकिन वह किसी मामले में निलंबित चल रहे हैं। 

 

डरे-सहमे बच्चे आज नहीं पहुंचे थे स्कूल

अभिभावक रवि कुमार                                                   मंगलवार को हुई घटना का असर दूसरे दिन यानी बुधवार को देखने को मिला। जब टीम  10:48 बजे स्कूल पहुंची तो यहां एक बच्चा वासु अहिरवार और एक बच्ची पार्वती स्कूल के बाहर खड़े हुए थे लेकिन वह स्कूल बैग लेकर नहीं आए थे। जब उनसे पूछा गया कि आज स्कूल क्यों नहीं आए तो उनका जवाब था कि कल स्कूल में हुई घटना से हम सभी बच्चे डरे सहमे हैं और स्कूल आने की जयमत नहीं उठा पा रहे हैं। बच्चों के अभिभावक रवि कुमार ने बताया कि शिक्षिका के पति आए दिन उनको परेशान करते हैं। इन दोनों के विवाद के कारण बच्चे भी परेशान हो रहे हैं। कल हुए विवाद के कारण स्कूल बंद पड़ा हुआ है। शिक्षिका के पति शराब और गांजा पीकर आते हैं और अपनी शिक्षिका पत्नी से मारपीट करते हैं। 

 

 

शासकीय प्राथमिक शाला सब्दा

बच्चे खड़े रहे लेकिन नहीं पहुंचा कोई शिक्षक

शासकीय प्राथमिक शाला मुकरामपुर

जब टीम सुबह 10:30 बजे मुकारमपुर गांव के शासकीय प्राथमिक विद्यालय पहुंची तो यहां स्कूल के बच्चे ही गेट खुलने का इंतजार कर रहे थे। बच्चों से पूछने पर बताया गया कि मैडम का इंतजार कर रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि स्कूल हमेशा से देरी से खुलता है। आज भी स्कूल सुबह 11:20 बजे खुला है। 

 

 

पांच कक्षाओं को संभाल रहे एक शिक्षक 

जब टीम ग्वारी गांव के शासकीय प्राथमिक स्कूल में पहुंची तो यहां एक कमरे में एक शिक्षक पढ़ाते हुए मिले। उन्होंने बताया कि यहां केवल एक ही शिक्षक पदस्थ हैं। कुल दर्ज 29 विद्यार्थियों में से आज 11 बच्चे उपस्थित थे। इसी तरह कोरासा गांव के मिडिल स्कूल में भी एक शिक्षक पदस्थ हैं। जहां कुल दर्ज 50 में से आज 26 विद्यार्थी उपस्थित रहे। एक शिक्षक ही तीन कक्षाओं के बच्चों को पढ़ा रहे थे। इसी गांव के प्राथमिक स्कूल में कुल दर्ज 35 में 11 विद्यार्थी उपस्थित रहे। यहां दो शिक्षक पदस्थ हैं। 

 

 

यह मेरा पारिवारिक मामला है 

 

शासकीय प्राथमिक स्कूल सब्दा की प्रधानाध्यापक चंदा कोरी ने बताया कि कल जो विवाद हुआ है, वह मेरा पारिवारिक मामला है। आज मैं स्कूल पहुंची हूं और बच्चे भी आए हैं। 

 

 

स्कूल बंद होने पर कार्रवाई की जाएगी

 

खुरई बीआरसी लोकमान चौधरी ने बताया कि कल सब्दा गांव की स्कूल में जो विवाद हुआ है, वह मेरे संज्ञान में आया है। यदि शिक्षिका और ग्रामीण शिकायत करते हैं तो उचित कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा जो स्कूल बंद पाए गए हैं उन पर कार्रवाई की जाएगी।

Public ki Awaaz
<h4>हमारी एंड्राइड न्यूज़ एप्प डाउनलोड करें </h4>

हमारी एंड्राइड न्यूज़ एप्प डाउनलोड करें

Get real time updates directly on you device, subscribe now.